10 बॉडी लैंग्वेज की गलतियां | body language common mistakes

body language ki common galtiyan

बॉडी लैंग्वेज की 10 कॉमन गलतियां

बॉडी लैंग्वेज की शक्ति : दोस्तों बॉडी लैंग्वेज यानी हाव – भाव ही शारीरिक भाषा है , जिसमें शब्द तो नहीं होते , लेकिन आप बिना कुछ कहे अपनी बात कह जाते हैं । बॉडी लैंग्वेज व्यक्ति के व्यक्तित्व का आईना होती है । बॉडी लैंग्वेज लोगों के मन में आपके प्रति धारणा बनाता है । अगर आप बॉडी लैंग्वेज के जरिये अपनी बात को कहते हैं , तो आप दूसरे के लिए आत्मविश्वासी , ऊर्जावान और ईमानदार व्यक्ति के रूप में सामने आते हैं । लेकिन दुर्भाग्य से हम इन बातों पर ध्यान नहीं देते हैं। और बहुत आम बॉडी लैंग्वेज की गलतियाँ करते हैं।

body language ki common galtiyan

कंधे झुकाए रखना :

मुद्रा का सही न होना ना केवल आपके स्वास्थ्य के लिए खतरनाक है बल्कि गलत बॉडी लैंग्वेज को भी दर्शाता है । कंधे और गर्दन को सीधा , पेट को अंदर और सीने को चौड़ा करके सीधे खड़े होना आत्मविश्वास को दर्शाता है । इसके विपरीत कंधे झुकाकर खड़े होना पीठ में दर्द , थकान आत्मविश्वास में कमी , आलस्य , सामान्य उपेक्षा और दुख की सामान्य भावना को दर्शाता है ।

ठीक से हाथ न मिलाना :

 दूसरे से ठीक से हाथ न मिलाना आपको अहंकारी दर्शाता है । आदर्श रूप से हाथ मिलाने का मतलब होता है की जब आप सामने वाले से हाथ मिलाये तो सामने वाले का हाथ थोड़ा मजबूती से पकडे चेहरे पर हलकी मुस्कुराहट के साथ, न की लूज हाथ से। अच्छी बॉडी लैंग्वेज के लिए अच्छे से हाथ मिलाने का रहस्य हथेली से हथेली का संपर्क होता है ।

बाहों को बचाव के रूप में मोड़ना :

बाहों को बचाव के रूप में मोड़ना, अपने आप को अपने में ही रहने की भावना को दर्शाता है । साथ ही दूसरों को संकेत देता है कि आप उदासीन है और उनकी बातों को नहीं सुन रहे हैं । इसके अलावा ऐसे में बात करते समय आपका ध्यान हमेशा हाथों पर रहता है जबकि सुनने वाला आपके हाथों को नहीं देखता बल्कि उसे इस बात पर आश्चर्य होता है कि आप उससे कुछ छुपा रहें हैं ।

उदासीन लगना :

किसी तथ्य पर बात होने पर अगर आप नीचे की ओर देखते हैं, तो आप अपनी सभी शक्तियों को खोकर कमजोर लग सकते हैं । हम अक्सर अपनी रूचियों को आइब्रो , मुस्कान , सिर हिलाने , मुँह से बोल कर या आगे की ओर झुकाव के माध्यम से व्यक्त करते हैं । अगर आप शारीरिक रूप से प्रतिक्रिया नहीं देते हैं , तो लोगों को लगता है कि आपको उनकी परवाह नहीं है , आप फंस रहे हैं ।

आंखों से संपर्क ना बनाना :

निश्चित रूप से आंखें बिना कहें बहुत कुछ कह देने वाली सबसे बढिया माध्यम है । यह बोलने का अधिकार , विश्वास , और उपस्थिति को दर्शाती है । इसलिए आपका आंखें चुराना यह दर्शाता है कि जो आपको कहा जा रहा है , आप उसपर ध्यान नहीं दे रहे । यह आपका संकोची होना ही नहीं , बल्कि आत्मविश्वास में कमी को भी दिखाता है ।

व्यग्र होना :

व्यग्र होने का मतलब है , हर समय कुछ न कुछ करते रहना । अपने कार्यालय या घर में कभी हाथों से इशारा करना या फोन या बालों के साथ खेलते रहना । यह सब आपमें कमजोरी और आत्मविश्वास की कमी को दर्शाता है ।

यहां-वहां घूमना:

हमेशा ऑफिस या घर में घूमना आपकी नादानी और बचपना दर्शाता है। इसके अलावा अपने हाथों के ऐक्शन पर भी कंट्रोल रखें , वर्ना सामने वाले को यह लग सकता है कि आप टेक ऑफ करने की कोशिश में लगे ।

बिना बोले संदेश देना :

एक लय में यह कहना कि कोई चीज आपको बहुत अच्छी लग रही है । लेकिन साथ ही इस दौरान अपनी बांहों को जल्दी से क्रॉस और आंखों को रोल करना । चेहरे के इस तरह के भाव विपरीत भावनात्मक प्रतिक्रिया को दिखाते है कि आप जो कह रहे हैं वह सही नहीं है ।

आंखें रोल करना :

किसी से बात करते समय आंखों को घूमना (रोल करना) , सामने वाले को इस बात का संकेत देता है कि जो वह कह रहा हैं आप उसकी सराहना या सम्मान नहीं कर रहें हैं । यह इस बात का मजबूत संकेत है, जो शोधकर्ताओं ने भी साबित किया है। कि पति या पत्नी से बात करते समय अपनी आंखों का घूमाना तलाक का मजबूत कारन है।

जरूरत से ज्यादा इशारे करना :

किसी महत्वपूर्ण बिंदु को व्यक्त करने के लिए इशारे महत्वपूर्ण हो सकते हैं। लेकिन बहुत ज्यादा इशारे करना आपमें घबराहट का संकेत देता हैं। इसलिए अपने हाथों को चारों ओर बहुत ज्यादा हिलाना , आपको आपकी बात से विचलित कर सकता है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*